आँवले की लोंजी बनाने की विधि – Aavla Lonji Vidhi


आंवले की लोंजी Aavle ki lonji आंवले के उपयोग का आसान तरीका है। सर्दियों की कुदरती सौगातों में आंवलो का विशेष महत्व है। यह बेहद गुणकारी होता है। जानिये आंवले की लोंजी कैसे बनाते हैं।
आंवला पाचन तंत्र , दिमागी शक्ति , नकसीर , दिल की बीमारी , नजला आदि के लिए बहुत ही सहायक है। विटामिन सी का इससे अच्छा कोई विकल्प नहीं है। इसका नियमित सेवन करना चाहिए इससे आपके बाल लंबे समय तक काले बने रहते है , झुर्रियां आपसे दूर रहती है और आप स्वस्थ व जवां बने रह सकते है।
आँवले को किसी भी रूप में भोजन में अवश्य शामिल करना चाहिए।

आंवले की लोंजी बनाने की विधि

Amla lonji recipe

आंवले की लोंजी सामग्री – Aavla lonji samagri

आँवला                                250 ग्राम
हरीमिर्च                                    5 -7
राई                                 1 /2 चम्मच
हींग                                    1 चुटकी
सौंफ                                   1 चम्मच
हल्दी पाउडर                      1 /2 चम्मच
लाल मिर्च पाउडर                     1 चम्मच
धनिया पाउडर                        2 चम्मच
नमक                               स्वादानुसार
शक्कर                                1 चम्मच
तेल                                    2 चम्मच

आंवले की लोंजी विधि –  Aavla Lonji Recipe

—  लोंजी बनाने के लिए बिना दाग वाले , ताजा आंवले चुने। आँवले मीडियम साइज़ के होने चाहिए।
—  आंवलो को साफ पानी से धो कर पानी में उबाल ले।
—  चाहे तो कुकर में एक या दो सीटी होने तक पका सकते है परन्तु ध्यान रहे आँवले गलकर अधिक नरम नहीं होने चाहिए।
—  ठंडे होने पर आंवलो की फांके अलग कर लें और गुठली निकाल दे।
—  हरी मिर्च को धोकर पोछकर 1 /2 इंच के टुकड़ो में काट ले। मिर्च के बीज निकाल दें।
—  कढ़ाई में तेल गरम करे।
—  तेल गर्म होने के बाद राई तड़का ले।
—  हींग व सौंफ डाले।
—  हरी मिर्च के टुकड़े व आँवले की फाँके डाल कर हिलाए।
—  अब लाल मिर्च पाउडर , हल्दी पाउडर , धनिया पाउडर व नमक डालकर दो मिनिट पकाये।
—  शक्कर डाले  व थोड़ा सा पानी  छिड़क कर एक -दो मिनिट पकाए व गैस बन्द कर दे।
—  आपकी गरमा गरम लोंजी तैयार है।
—  फ्रिज में चार-पांच  दिन तक रख कर काम में ले सकते है।

आँवला लोंजी के टिप्स – Anvala Lonji tips

आँवले की लोंजी में पानी की वजह से थोड़ी नमी होती व तेल भी कम होता है इसलिये यह ज्यादा दिन तक नहीं चलता है परन्तु इसे फ्रिज में रख कर चार-पांच दिन तक काम में ले सकते है।
आंवले की प्रकृति अम्लीय होती है इसलिए लोंजी बनाकर स्टील के बरतन में नहीं रखना चाहिए इससे नुकसान होता है। प्लास्टिक के बर्तन में लोंजी रखने से खराब तो नहीं होती परन्तु स्वास्थ्य की दृष्टि से यह हानिकारक है इसलिए जब भी लोंजी बनाकर रखे तो काँच के बर्तन में ही रखे और आँवले की लोंजी के भरपूर लाभ उठाये।
शक्कर की जगह गुड़ का उपयोग किया जा सकता है ।
Powered by Blogger.