पिम्पल मुँहासे ठीक करने के उपाय – Muhase ke Gharelu Nuskhe


पिम्पल Pimples यानी मुँहासे चेहरे की सुन्दरता बिगाड़ देते है। अक्सर यौवन काल में प्रवेश करने पर मुँहासे अधिक होते है। मुहासों का इलाज घरेलु तरीकों से करने पर अच्छे परिणाम मिल सकते है। आइये जानें ये क्या हैं।

मुँहासे पिम्पल्स कैसे बनते हैं – How Pimples form

हमारी त्वचा पर बारीक रोम छिद्र होते है। इसमें से सीबम नामक तैलीय पदार्थ का स्राव होता है। इस तैलीय पदार्थ पर त्वचा की डेड स्किन या धुल मिट्टी आदि चिपकने से रोम छिद्र बंद हो जाता है।
ऐसे में सीबम अंदर जमा हो जाता है। इसमें बेक्टिरिया पनपने लगते है। इस कारण सूजन दर्द होने लगते है। वह रोम छिद्र फुंसी जैसा नजर आने लगता है। इन्हे पिंपल्स या मुँहासे कहते हैं।

पिम्पल होने के कारण – Cause of pimples


रोम छिद्र बंद होने और बैक्टीरिया के कारण पिम्पल्स होते है और इनके कुछ सामान्य कारण ये हो सकते हैं –
पाचन तंत्र
पाचन तंत्र के सही प्रकार से काम नहीं कर पाने के कारण शरीर में विषैले तत्व जमा हो जाते हैं जो फोड़े फुंसी और पिम्पल्स का कारण बनते हैं।
मानसिक तनाव
मानसिक तनाव का शरीर के सभी अंगों पर प्रभाव पड़ता है। स्किन पर फुंसी और पिम्पल भी इस वजह से हो सकते है। क्योंकि मानसिक तनाव से प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है।
तकिया 
चेहरे और बालों पर मौजूद ऑइल और बैक्टीरिया तकिये पर लग जाते हैं। इसे लम्बे समय तक साफ नहीं करने से इसके कारण पिम्पल्स हो सकते हैं।
मोबाइल
मोबाइल की साफ सफाई उचित तरीके से नहीं होने कर कारण उसमे बैक्टीरिया हो सकते हैं। मोबाइल से बात करते समय ये बैक्टीरिया चेहरे की स्किन के संपर्क में आकर इन्फेक्शन या पिम्पल्स पैदा कर सकते हैं। अतः इसका ध्यान रखना चाहिए।
सन ग्लास
सन ग्लास को सिर पर चढ़ा लेने से सिर में मौजूद तेल और बैक्टीरिया चश्मे पर जमा हो सकते हैं। ऐसे सन ग्लास पहनने से स्किन पर बैक्टीरिया पहुँच कर पिम्पल्स का कारण बन सकता है।
हेलमेट
हेलमेट की साफ सफाई सफाई नहीं रखने से या किसी दूसरे का हेलमेट पहनने से उसमे मौजूद बैक्टीरिया चेहरे की स्किन पर इन्फेक्शन या पिम्पल्स पैदा कर सकते हैं।
आफ्टर शेव 
कभी कभी आफ्टर शेव के कारण भी चेहरे की स्किन ड्राई होकर इन्फेक्शन और पिम्पल का कारण बन जाता है।
सिर में डैंड्रफ
सिर में डैंड्रफ होने पर यह स्किन पर गिरकर चेहरे पर पिम्पल का कारण बन सकती है।
हार्मोन का बदलाव
सोलह सत्रह साल की उम्र में हार्मोन में बदलाव आने के कारण भी मुँहासे हो जाते है।
अधिक मेकअप 
चेहरे पर ज्यादा मात्रा में और ज्यादा देर तक मेकअप रहने से रोम छिद्र बंद हो जाते हैं यह पिम्पल का कारण बन सकता है।

पिम्पल के घरेलु उपचार – Pimples home remedies

—  चन्दन का पाउडर , गुलाब की पत्ती का पेस्ट व ग्लिसरीन मिलाकर लगाने से मुहांसे ठीक होते है।
—  कच्चा आलू चेहरे पर घिसने से मुहांसों में आराम मिलता है।
—  ककड़ी के रस में नींबू का रस मिलाकर लगाये। आधा घंटे बाद धो दें। आराम मिलेगा।
—  शहद में दालचीनी का पाउडर मिलाकर चेहरे पर लगायें। 10 -15 मिनट बाद धो लें। मुहांसे ठीक होंगे।
—  एप्पल सिडार सिरका दिन में तीन चार बार लगाने से मुहासे ठीक होते है। दस मिनट रखकर धो लें। फिर हल्का मोइश्चरइसेर लगाएं।
—  नीम के पत्ते पीसकर मुहांसों  पर लगभग आधा घंटे लगाकर रखें फिर धो लें।
—  बर्फ की सिकाई करने से मुहासों में आराम आता है।
—  दही में हल्दी मिक्स करके लगाने से मुहांसे ठीक होते है।
—  कच्चा पपीता व खीरा  पेस्ट बनाकर चेहरे पर लगाने से मुहांसे ठीक होते है।
—  तुलसी के पत्ते पीस का रोज लगाने से मुहासों के दाग मिटते है।
—  जायफल को दूध के साथ घिसकर लगाने से कुछ दिनों में मुहासों के दाग चले जाते है।
—  आलू को उबालकर ठंडा करके छिलके सहित पीस लें। इसमें ककड़ी का रस व नींबू का रस मिलाकर चेहरे पर लगालें। लगभग आधे घंटे बाद धोलें। चेहरे के हर प्रकार के दाग , धब्बे व झाइयाँदूर हो जाते है।
Powered by Blogger.